Pyara Hindustan
National

सीएम योगी की चुनौती से बौखलाए एजेंडाधारी राकेश टिकैत, पीएम मोदी पर की अभद्र टिप्पणी

सीएम योगी की चुनौती से बौखलाए एजेंडाधारी राकेश टिकैत, पीएम मोदी पर की अभद्र टिप्पणी
X

एजेंडाधारी राकेश टिकैत की बेतुकी बयानबाजी लगातार जारी है। कृषि कानूनो के विरोध के नाम पर फर्जी आंदोलन चला रहे एजेंडाधारी राकेश टिकैत लगातार अपनी जुबान से जहर ही उगल रहे है। बक्कल उतारने से लेकर देश मे युद्ध होगा, मीडिया अगला टार्गेट होगा इतना ही नही सरकार के खिलाफ लाठी उठाने से पैसे मिलेंगे और इन सबके बाद अब टिकैत ने लखीमपुरी हिंसा को एक्शन का रियक्शन करार दिया। और अब राकेश टिकैत ने एक बार फिर ऐसा बयान दे दिया जिसके बाद लोगो का गुस्सा फूट पड़ा है। टिकैत ने कहा कि किसानों के लिए कानून काला है और देश के लिए नरेंद्र मोदी काला है। टिकैत का यह बयान लखीमपुर खीरी हिंसा के बाद सीएम योगी की एजेंडाधारियो को दी गई चुनौती के बाद सामने आया है। सीएम योगी ने यह साफ कर दिया है कि अगर यूपी की जनता के जन जीवन को अस्त व्यस्त करने की कोशिश की गई तो उसका खामियाजा भुगतना होगा।

बता दें कि राकेश टिकैत शुरु से ही इस पूरे फर्जी आंदोलन में इस तरह की घटिया बयानबाजी करते आए है। जिसको लेकर लगातार यह सवाल उठते रहे है कि किसानो के नाम पर यह क्या हो रहा है? यूपी में कुछ ही महीने बाद चुनाव है और यूपी में ही राकेश टिकैत ने कुछ ऐसे बयान दिए जिसका नाता किसानों से नहीं है।

यूपी के बाराबंकी पहुंचे एजेंडाधारी राकेश टिकैत ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि तीनों कृषि कानून किसानों के लिए काले हैं तो नरेंद्र मोदी पूरे देश के लिए काला है। कृषि कानून आज नहीं तो एक साल बाद हटेंगे। टिकैत ने कहा कि ये लोग बिजली के प्राइवेटाइजेशन में लगे हैं। लोगों को 15 रुपए प्रति यूनिट बिजली दिए जाने की तैयारी है। 26 अक्‍टूबर को लखनऊ की बैठक में हम आगे की रणनीति तय करेंगे।"

साथ ही राकेश टिकैत ने लखीमपुर हिंसा मामले में केंद्रीय गृह राज्‍यमंत्री अजय कुमार मिश्रा 'टेनी' की गिरफ्तारी तक आंदोलन चलाने का ऐलान किया। टिकैत ने ये भी कहा कि अजय मिश्रा के नाम के आगे मिश्रा मत लगाओ, वह टेनी है। उन्होंने मांगें स्वीकार नहीं करने पर बड़े आंदोलन की चेतावनी भी सरकार को दे डाली. साथ ही कहा कि सरकार को तीनों कृषि कानून वापस लेने ही पड़ेंगे, इसके लिए अगर 10 साल भी आंदोलन चलाना पड़े तो हम चलाएंगे।

बता दें कि इससे पहले भी राकेश टिकैत इस तरह की भाषा का इस्तेमाल करते रहे है। हाल ही में टिकैत ने कहा था कि सरकार नही मानी तो लाठी उठाना पड़ेगा। इतना ही नही पिछले महीने हरियाणा के सिरसा में किसान सम्‍मेलन में हिस्‍सा लेने पहुंचे टिकैत ने बीजेपी सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि यूपी का चुनाव अगले साल होने जा रहा है। चुनाव से पहले किसी बड़े हिंदू नेता की हत्‍या होगी। टिकैत की इस बयानबाजी को लेकर अब लोगो का गुस्सा और नाराजगी लगातार बढ़ रही रही है। लोग मांग कर रहे है कि केन्द्र सरकार टिकैत पर सख्त कार्रवाई करें।










Shipra Saini

Shipra Saini

News Anchor


Next Story
Share it