Pyara Hindustan
World

दुनिया का पेट भर रहे हैं भारतीय किसान, मिस्र ने दी गेहूं आपूर्तिकर्ता के रूप में भारत को मंजूरी: पीयूष गोयल

दुनिया का पेट भर रहे हैं भारतीय किसान, मिस्र ने दी गेहूं आपूर्तिकर्ता के रूप में भारत को मंजूरी: पीयूष गोयल
X

केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने हाल ही में इन्वेस्टोपिया शिखर सम्मेलन और विश्व सरकार शिखर सम्मेलन में हिस्सा लिया था. ये सम्मेलन दुबई में हुआ था. बुधवार को भाजपा मुख्यालय में पीयूष गोयल ने अपनी इस यात्रा का जिक्र किया. उन्होंने बताया कि कैसे अब कई देश भारत से गेहूं की मांग कर रहे हैं और भारतीय किसान दुनिया का पेट भर रहे हैं. बता दे, गोयल ने एक ट्वीट में कहा कि "भारतीय किसान दुनिया को खिला रहे हैं। मिस्र ने भारत को गेहूं आपूर्तिकर्ता के रूप में मंजूरी दी। मोदी सरकार। स्थिर खाद्य आपूर्ति के लिए विश्व विश्वसनीय वैकल्पिक स्रोतों की तलाश कर रहा है। हमारे किसानों ने सुनिश्चित किया है कि हमारे अन्न भंडार अतिप्रवाहित हों और हम दुनिया की सेवा के लिए तैयार हैं, "

वहीं पीयूष गोयल ने भाजपा मुख्यालय में कहा कि शिखर सम्मेलन में मिस्र के अर्थव्यवस्था मंत्री से कार्यक्रम के बाद हमारी मुलाकात हुई. इस मुलाकात के दौरान मिस्र ने हमसे गेहूं खरीदने करने का अनुरोध किया. हमारे बीच 10 मिनट तक बातचीत हुई. वहीं इस बातचीत के बाद मिस्र ने भारत से गेहूं आयात करने की संभावना का पता लगाने के लिए एक टीम यहां भेजी. गोयल के मुताबिक, पिछली यूपीए सरकार ने गेहूं निर्यात करने की कोशिश की थी. लेकिन उनसे कुछ नहीं हो सका. वहीं अब सब कुछ बदल रहा है.

दरअसल रूस और यूक्रेन युद्ध के कारण कई चीजों की आपूर्ति सही से नहीं हो पा रही है. ऐसे में चीजों की आपूर्ति के लिए कई देशों की नजर भारत पर है.

आपको बता दे, भारत सालाना लगभग 107.59 मिलियन टन गेहूं का उत्पादन करता है जबकि इसका एक बड़ा हिस्सा घरेलू खपत में जाता है। वहीं भारत में प्रमुख गेहूं उत्पादक राज्य उत्तर प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, मध्य प्रदेश, राजस्थान, बिहार और गुजरात हैं।

वहीं रूस-यूक्रेन युद्ध से न सिर्फ यूक्रेन औऱ उसके पड़ोसी देशों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है बल्कि दुनिया के कई देशों में खाद्य पदार्थों की आपूर्ति में संकट उत्पन्न हो गया है. दुनिया के कई हिस्सों में खाद्य भंडार में कमी हो रही है. ऐसी स्थिति में भारत एक अहम भूमिका निभा सकता है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि अगर विश्व व्यापार संगठन भारत को अनुमति देता है तो हमारा देश अपने खाद्य भंडार से दुनिया को खाद्य आपूर्ति कर सकता है.

Rani Gupta

Rani Gupta

News Reporter


Next Story